Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Ad Blocker Detected

Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors. Please consider supporting us by disabling your ad blocker.

गोपालगंज जाफ़रटोला – देवापुर महाविरी आंखड़ा 2017

गोपालगंज – 20 September 2017 ढोल-नगाड़ों की धुन पर बच्चों और युवाओं के नृत्य के साथ की बुधवार की  रात जुलूस से शुरु हुआ महावीरी अखाड़े का सिलसिला रविवार को  भी जारी रहा। महावीरी अखाड़ों को देखने के लिए जो जहां था वहीं ठहर गया। महावीर जी की प्रतिमा के साथ निकले इन अखाड़ों को देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। अखाड़ों में शामिल युवकों के पारंपरिक हथियारों के साथ दिखाए जा रहे युद्ध कला के प्रदर्शन ने हर किसी में जोश भर दिया। ढोल-नगाड़ों की थाप पर लोग अपने को थिरकने से रोक नहीं सके। वहीं सड़कों के किनारे खिलौने-गुब्बारे की दुकानें सजने तथा इन दुकानों पर उमड़ी भीड़ से पूरा जाफ़रटोला  मेला में तब्दील हो गया। हालांकि नर्तकियों के नृत्य पर रोक और विधि व्यवस्था के चुस्त-दुरुस्त रहने से इस बार माहौल में पहले की तरह गर्मी नहीं देखी गई। और न ही नशे में धुत होकर युवकों को नाचते-गाते देखा गया। विभिन्न अखाड़ा समितियों के साथ पुलिस कर्मी भी साथ-साथ लगे रहे। दिन के तीन बजे के बाद प्रारंभ हुआ महावीरी अखाड़ा का मेला पूरे दिन चलता रहा। इस दौरान महावीरी अखाड़ा में घुड़दौड़, ढोल-नगाड़े और युवकों के शौर्य प्रदर्शन के साथ उनके थिरकते पांव से माहौल उत्सव पूर्वक बना रहा और अखाड़ों का निकलना भी जारी रहा।

Leave a Reply